प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना: जाने पूरी जानकारी | PM SvaNidhi Yojana 2021: Online Apply

 

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना:

बिना गारंटी10000 रुपये के लोन के लिए ऐसे करें अप्लाईइस योजना के तहत शहरी क्षेत्रों के रेहड़ीपटरी वालों को एक साल के लिए10,000 रुपये का ऋण बिना किसी गारंटी के उपलब्ध कराया जा रहा है। यह योजना 20.97 लाख करोड़ रुपये के आत्मनिर्भर भारत अभियान पैकेज का हिस्सा है

 

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना:  जाने पूरी जानकारी | PM SvaNidhi Yojana 2021: Online Apply
 PM SvaNidhi Yojana 2021: Online Apply


हमारे देशके प्रधानमंत्रीश्री नरेंद्रमोदी जीके द्वारा1 जून 2020 को  केंद्रीय केबिनेटकी बैठकमें स्वनिधियोजना कोशुरू करनेका फैसलालिया है| इस योजनाके अंतर्गत  देश केरेहड़ी औरपटरी वालों(छोटे सड़कविक्रेताओं) को अपना खुद का काम नए सिरेसे शुरूकरने केलिए केंद्रसरकार द्वारा10000 रूपये तकका लोनमुहैया करायाजायेगा | इसस्वनिधि योजनाको प्रधानमंत्रीस्ट्रीट वेंडर्सआत्म निर्भरनिधि केनाम सेभी जानाजाता है| इस योजनाका लाभदेश केसभी  छोटेसड़क विक्रेताओंको उपलब्धकराया जायेगा| प्यारे दोस्तोंआज हमआपको अपनेइस आर्टिकलके माध्यमसे इस स्वनिधि योजना से जुड़ीसभी जानकारीजैसे आवेदनप्रक्रिया , पात्रता,दस्तावेज़ आदिप्रदान करनेजा रहेहै अतःहमारे इसआर्टिकल कोअंत तकपढ़े |


Svanidhi Yojana

देश में ग्रामीण और शहरी सड़को के किनारे  स्ट्रीट वेंडर जो फल, सब्जियाँ बेचते हैं या रेहड़ी पर छोटीमोटी दुकान लगाते हैं वे इस SVANidhi Yojana के तहत सरकार द्वारा  10000 रूपये का लोन प्राप्त कर सकते है सरकार द्वारा लिया गया यह ऋण रेहड़ी पटरी वाले लोगो को एक साल के भीतर किस्त में लौटना होगा | इस लोन को समय पर चुकाने वाले स्ट्रीट वेंडर्स को सात फीसद का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर उनके अकाउंट में सरकार की ओर से ट्रांसफर किया जाएगा। देश के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें इस योजना के तहत आवेदन करना होगा | स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में वेंडर, हॉकर, ठेले वाले, रेहड़ी वाले, ठेली फलवाले आदि सहित 50 लाख से अधिक लोगों को इस योजना से लाभ प्रदान किया जायेगा |

 

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा वितरित किए जाएंगे ऋण

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा 29 अगस्त 2021 को बालाघाट में स्वनिधि योजना के अंतर्गत ऋण वितरण किया जाएगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी लाभार्थियों से संवाद भी करेंगे। कार्यक्रम में शहरी विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह भी उपस्थित होंगे। इस कार्यक्रम को विभिन्न मीडिया प्लेटफॉर्म एवं क्षेत्रीय टीवी समाचार में वेबकास्ट लिंक के माध्यम से प्रसारित किया जाएगा। इस अवसर पर मंत्रियों, सांसदों, विधायकों एवं अन्य जनप्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया गया है। 1 जुलाई 2020 से मार्च 2022 तक इस योजना के पहले चरण में कुल 402000 शहरी पथ विक्रेताओं को ऋण वितरित करने का लक्ष्य मध्य प्रदेश में निर्धारित किया गया था। इसके विपरीत 350000 विक्रेता लाभवंती हो चुके हैं। इस योजना के पहले चरण में मध्य प्रदेश इस योजना के कार्यान्वयन में दूसरे नंबर पर है।

 

दूसरे चरण के कार्यान्वयन में मध्य प्रदेश पहले स्थान पर

पूरे मध्य प्रदेश में 672000 शहरी पथ विक्रेताओं को पहचान पत्र जारी किए गए हैं। स्वनिधि योजना के पहले चरण में 12 मार्च 2021 तक 3 लाख विक्रेताओं को प्रति लाभार्थी ₹10000 की दर से 300 करोड़ रुपए का ऋण वितरित किए जा चुके हैं। इसके बाद अब तक 50000 नए शहरी रेहड़ी पटरी वाले को ₹10000 की दर से ₹50 करोड़ रुपए के ऋण दिए जा चुके हैं। वह सभी रेहड़ी पटरी वाले जो डिजिटल माध्यम से लेनदेन करते हैं उनको अब तक करीब 11 लाख रुपए का कैशबैक प्रदान किया जा चुका है।

इस योजना के अंतर्गत डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए लाभार्थियों को प्रतिमाह ₹100 का कैशबैक प्रदान किया जाता है। 18 अगस्त 2021 से इस योजना का दूसरा चरण आरंभ हो गया है। वह सभी लाभार्थी जिन्होंने पहले चरण के ₹10000 रुपए का ऋण पूरी तरह से चुका दिया है उनको दूसरे चरण में ₹20000 का ऋण प्रदान किया जाएगा। 600 रेहड़ी पटरी वालों को पहले ही ₹20000 का ऋण मिल चुका है। देश भर में कुल 1200 लाभार्थियों को दूसरे चरण के अंतर्गत ऋण वितरित किए जा चुके हैं। इस योजना के दूसरे चरण के कार्यान्वयन में मध्य प्रदेश देश में पहले स्थान पर है।

 

 



प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *